Old Pension: देश में पुरानी पेंशन की मांग पर पहला अनशन, क्या लागू होगी पुरानी पेंशन योजना?

जनवरी 8 से जनवरी 11 तक केंद्रीय और राज्य सरकार के विभागों, संगठनों और स्थापनाओं के सामने 'रिले हंगर फास्ट'

Dec 24, 2023 - 15:04
Dec 24, 2023 - 15:09
 0  811
Old Pension: देश में पुरानी पेंशन की मांग पर पहला अनशन, क्या लागू होगी पुरानी पेंशन योजना?

केंद्रीय और राज्य सरकार के कर्मचारी संगठन 'पुरानी पेंशन की बहाली' की मांग करते हुए भूख हड़ताल करेंगे। यह निर्णय नई दिल्ली में AIRF कैंपस के JP चौबे मेमोरियल लाइब्रेरी में आयोजित JFROPS की बैठक में लिया गया है।

जिसकी अध्यक्षता JFROPS संयोजक शिव गोपाल मिश्रा ने की, इसमें अनिश्चितकालीन हड़ताल की तारीख जल्द ही तय करने पर सहमति बनी। नेशनल जॉइंट काउंसिल ऑफ एक्शन (NJCA) की स्टीयरिंग कमेटी के वरिष्ठ सदस्य सी. श्रीकुमार, जो OPS के लिए गठित की गई है, और AIDEF के महासचिव का कहना है कि हड़ताल नोटिस और अनिश्चितकालीन हड़ताल की तारीख तय होने के बाद सरकार को सूचित किया जाएगा। इस संबंध में कैबिनेट सचिव को पत्र जारी किया जाएगा ताकि उन्हें JFROPS के निर्णयों की जानकारी दी जा सके।

केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारी पुरानी पेंशन की बहाली के लिए आंदोलन कर रहे हैं। दिल्ली और अन्य राज्यों में इस मांग को लेकर कई रैलियां हुई हैं। कर्मचारी संगठनों की केवल एक मांग है, पुरानी गारंटीशुदा पेंशन प्रणाली की बहाली। केंद्र सरकार ने इस संबंध में एक समिति का गठन किया है। हालांकि, इसमें OPS का कहीं उल्लेख नहीं है। समिति केवल NPS में सुधारों पर अपनी रिपोर्ट देगी।

यह मुद्दा अब संसद में भी उठाया जा रहा है। लोकसभा सदस्य नव कुमार सरनिया, दीपक बैज और कृपाल बालाजी तुमाने द्वारा पूछे गए एक प्रश्न के उत्तर में, वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने कहा, OPS बहाली के लिए सरकार के विचाराधीन कोई प्रस्ताव नहीं है। साथ ही, NPS के तहत कर्मचारियों द्वारा पेंशन फंड नियामक और विकास प्राधिकरण (PFRDA) में जमा की गई राशि राज्य सरकारों को नहीं दी जा सकती।

रेलवे और रक्षा विभाग के कर्मचारी हड़ताल के पक्ष में...

'पुरानी पेंशन बहाली' की लड़ाई अब अंतिम चरण की ओर बढ़ रही है। अगर सरकार इस कर्मचारी मांग को स्वीकार नहीं करती, तो अनिश्चितकालीन हड़ताल हो सकती है। यह जानने के लिए कि कितने कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल के पक्ष में हैं, रेलवे और रक्षा विभाग (सिविल) के दो बड़े विभागों में हड़ताल बैलट किया गया था।

OPS के लिए गठित नेशनल जॉइंट काउंसिल ऑफ एक्शन (NJCA) की स्टीयरिंग कमेटी के राष्ट्रीय संयोजक और नेशनल काउंसिल 'JCM' के स्टाफ साइड सचिव शिवगोपाल मिश्रा ने कहा था कि रेलवे के 11 लाख कर्मचारियों में से 96 प्रतिशत कर्मचारी OPS लागू न करने के खिलाफ हैं। 

इस स्थिति में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के लिए तैयार हैं। इसके अलावा, रक्षा विभाग (सिविल) के चार लाख कर्मचारियों में से 97 प्रतिशत हड़ताल के पक्ष में हैं।

शुक्रवार को जॉइंट फोरम की बैठक में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के लिए तय की गई तारीख की घोषणा पर सहमति बनी। पहले चरण में, सरकारी कर्मचारी भूखे रहेंगे और केंद्र सरकार को चेतावनी देंगे। उसके बाद अनिश्चितकालीन हड़ताल की तारीख की घोषणा की जाएगी।

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow