सरकारी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने हेतु नई हाजिरी प्रणाली का आरंभ

बिहार सरकार ने अपने सरकारी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए एक नई हाजिरी प्रणाली शुरू की है। इस प्रणाली के तहत, शिक्षकों को अब प्रतिदिन की हाजिरी और पढ़ाए गए विषयों की जानकारी दर्ज करनी होगी। यह प्रणाली शिक्षकों की जवाबदेही बढ़ाने और छात्रों को बेहतर शिक्षा प्रदान करने में मदद करेगी।

Dec 23, 2023 - 17:03
 0  612
सरकारी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने हेतु नई हाजिरी प्रणाली का आरंभ

पटना: बिहार के सरकारी स्कूलों में शिक्षा की गुणवत्ता और प्रबंधन को और अधिक प्रभावी बनाने के उद्देश्य से शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव, श्री के के पाठक ने एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। इस निर्णय के तहत, वर्तमान हाजिरी सिस्टम में बदलाव करते हुए एक नया पैटर्न लागू किया जा रहा है। यह परिवर्तन अगले वर्ष जनवरी से प्रभावी होगा।

शिक्षा विभाग की नियमित समीक्षा के दौरान यह निर्णय सामने आया कि मौजूदा हाजिरी प्रणाली में कई खामियां हैं, जिन्हें दूर करने की आवश्यकता है। 21 दिसंबर को इस संबंध में सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों को एक पत्र जारी किया गया।

पत्र के अनुसार, अब प्रत्येक महीने के लिए एक अलग हाजिरी रजिस्टर होगा, जिसमें प्रतिदिन की हाजिरी दर्ज की जाएगी। पहले की प्रणाली में, एक ही रजिस्टर में पूरे वर्ष की हाजिरी दर्ज की जाती थी, जिसमें प्रत्येक महीने के लिए केवल एक पन्ना होता था। नए सिस्टम में शिक्षकों को न केवल अपनी उपस्थिति दर्ज करनी होगी, बल्कि यह भी बताना होगा कि उन्होंने किस विषय की कितनी घंटियों में पढ़ाई की।

इस नई प्रणाली से उन शिक्षकों पर नियंत्रण पाया जा सकेगा जो स्कूल आने के बाद भी कक्षा में नहीं जाते हैं। निरीक्षण के समय, अधिकारी हाजिरी पंजी की जांच करेंगे और छात्रों से इसका सत्यापन भी करेंगे, जिससे शिक्षकों की वास्तविक उपस्थिति और उनके द्वारा की गई पढ़ाई की जानकारी मिल सकेगी।

शिक्षा विभाग का यह कदम बिहार के सरकारी स्कूलों में शिक्षण कार्य की गुणवत्ता और प्रभावशीलता को बढ़ाने में मदद करेगा। इस नए सिस्टम के सफल कार्यान्वयन से शिक्षकों की जवाबदेही बढ़ेगी, और छात्रों को बेहतर शिक्षा प्राप्त हो सकेगी। जो शिक्षक इस नई प्रणाली का पालन नहीं करेंगे, उन पर उचित कार्रवाई की जा सकेगी।

यह निर्णय बिहार सरकार की शिक्षा को और अधिक प्रगतिशील और प्रभावी बनाने के संकल्प का हिस्सा है। इससे न केवल शिक्षकों की जिम्मेदारी बढ़ेगी, बल्कि छात्रों की शैक्षिक प्रगति में भी सुधार देखने को मिलेगा।

के के पाठक, अपर मुख्य सचिव, शिक्षा विभाग, बिहार सरकार

What's Your Reaction?

like

dislike

love

funny

angry

sad

wow